Breaking News
Home / देश / “आप” विधायकों को है कुमार पर विश्वास – ३४ विधायक है कुमार विश्वास को मुख्यमंत्री बनाये जाने के पक्ष में

“आप” विधायकों को है कुमार पर विश्वास – ३४ विधायक है कुमार विश्वास को मुख्यमंत्री बनाये जाने के पक्ष में

KV1

नई दिल्ली – दिल्ली के नगर निगम चुनाव में सत्ताधारी आम आदमी पार्टी की करारी हार के बाद अब पार्टी अंतर्गत कलह उभर कर सामने आ रहा है. नगर निगम में चुनावी हार का सीधा सीधा असर राज्य सरकार पर होता दिखाई पद रहा है. अरविन्द केजरीवाल के लिए मुसीबते बढ़ती जा रही है.
उल्लेखनीय है कि आम आदमी पार्टी के संस्थापक सदस्य रहे कुमार विश्वास मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल से नाराज बताये जा रहे थे. दिल्ली के चुनाव के वक्त भी कुमार विश्वास ने मौजूदा हालात पर पार्टी को आइना दिखाया था. येन केन मनाते हुए कुमार विश्वास को प्रचार के लिए लाया गया था. अब नतीजों के बाद एक बार फिर मामला गर्माते नज़र आ रहा है. वहीं मनीष सिसोदिया के अन्ना हज़ारे के खिलाफ कथित बयान के चलते, दिल्ली के मुख्यमंत्री को बदले जाने की मांग ज़ोर पकड़ती नज़र आ रही है.
सूत्रों के हवाले से प्राप्त जानकारी के अनुसार करीब ३४ विधायक कुमार विश्वास को मुख्यमत्री बनाये जाने के पक्ष में लामबद्ध हो गए है.
बता दें कि गत शुक्रवार को आम आदमी पार्टी की समीक्षा बैठक ली गयी थी. इस बैठक में MCD के चुनाव में “आप” की हार को लेकर चिंतन और समीक्षा की गयी. ऐसी बैठक में कुमार विश्वास ने खुलकर कहा था कि पार्टी की हार EVM मशीन की वजह से न होते हुए, बल्कि पार्टी के अंतर कलह के वजह से हुयी है. गड़बड़ी EVM मशीन में नहीं बल्कि अपनी पार्टी में थी. कुमार विश्वास ने पार्टी का अस्तित्व बचाने के लिए फौरी तौर पर पार्टी में भारी फेर बद्दल और काम करने के तरीके में बदलाव की पैरवी की थी.
कुमार विश्वास ने कहा था की लिए जा रहे फैसले में जनता और कार्यकर्ता की सहभागिता होनी चाहिए. फैसले ऊपर से लिए जा रहे है और कार्यकर्ता अपने आप को उपेक्षित महसूस करने लगा है. उनके बोल्ड स्टैंड के कारण अधिकतर नेता कार्यकर्ता कुमार विश्वास को मुख्यमंत्री बनाये जाने की मांग करने लगे है.
इस से पहले भी सं २०१५ में दिल्ली के चुनाव के वक्त. दिल्ली विधान सभा चुनाव के पहले भी दिल्ली से भाजपा सांसद और वर्तमान दिल्ली प्रदेश के भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी ने भी कुमार विश्वास को CM बनने की पेशकश की थी.

About Satya Sodhak Rahi

Check Also

01052019

देवेन भारती को मुझसे दूर रखो राजेन्द्र त्रिवेदी ने मांगा था प्रशासनिक संरक्षण

वरिष्ठ पत्रकार “अकेला” मुम्बई पुलिस के इतिहास में शायद यह पहला ऐसा मामला होगा जिसमें …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *