Breaking News
Home / Slider Homepage / बीपीटी के तेल चोर पर भी कार्रवाई नही करने दिया देवेन भारती और किरण चव्हाण ने

बीपीटी के तेल चोर पर भी कार्रवाई नही करने दिया देवेन भारती और किरण चव्हाण ने

article 1842019

वरिष्ठ पत्रकार “अकेला”

 

मुम्बई पुलिस के संयुक्त पुलिस आयुक्त (कानून व व्यवस्था) रहे देवेन भारती और बन्दर परिमंडल के उपायुक्त किरण चव्हाण ने बॉम्बे पोर्ट ट्रस्ट (बीपीटी) के बड़े तेल चोर पर भी कार्रवाई नही करने दिया। इसके पूर्व आप पढ़ चुके हैं कि कैसे देवेन भारती ने किरण चव्हाण के मार्फ़त ऑक्ट्राय चोरों, हत्यारोपियों, और बिल्डर पालनजी के अवैध विस्फोटकों पर कार्रवाई नही करने दिया था।
29 जून 2015 को बीपीटी प्रतिनिधि (असिस्टेंट शेड डिपो) ने शिवड़ी पुलिस को पत्र लिखा कि 21 जून 2015 से ब्लॉक क्रमांक- 6 पर बने गोदाम से साइट चौकी एसी के साथ दो सिंटेक्स वाटर टैंक, पांच स्टील प्लेट्स, 12 ड्रम, टीन शेड्स और 2 ट्रक (एमएच 04-जीसी 1460 और एमएच 04-सीजी 3374) गायब हो गए हैं। प्रतिनिधि ने यह भी बताया कि 3 अप्रैल 2015 को उक्त गोदाम को बीपीटी ने सील कर दिया था और 10 अप्रैल 2015 को वडाला टीटी पुलिस ने गोदाम का पंचनामा किया था।
राजेन्द्र त्रिवेदी तब शिवड़ी पुलिस ठाणे के वरिष्ठ निरीक्षक थे। उन्होंने मामले की जांच शुरू की तो बीपीटी के जिस प्रतिनिधि ने पुलिस को पत्र लिखा था पता नही क्यों उसने एफआईआर लिखवाने से मना कर दिया। वह चाहता था कि सिर्फ मिसिंग की शिकायत दर्ज हो। त्रिवेदी का मानना था कि ट्रक, ड्रम और प्लेट्स जड़ वस्तुएं है जो अपने आप बाहर नही जा सकती तो मिसिंग कैसे होगी। त्रिवेदी चाहते थे कि मामले में चोरी की एफआईआर हो।
30 मई 2018 को त्रिवेदी ने जांच अधिकारी संयुक्त पुलिस आयुक्त संजय सक्सेना को लिखित में बताया कि किरण चव्हाण अप्रत्यक्ष रूप से तेल माफिया संतोष सिंह का बचाव कर रहे हैं। त्रिवेदी को बाद में बताया गया कि देवेन भारती भी चाहते हैं कि सन्तोष सिंह पर कार्रवाई न हो।
बताते है कि संतोष सिंह बीपीटी का सबसे बड़ा तेल चोर है। या यूं कहा जाय कि तेल माफिया है। किसी कारणवश जब पुलिस या बीपीटी अधिकारी गोदाम को सील कर देते हैं तो सन्तोष सिंह पीछे से गोदाम खोलकर उसमे ट्रक घुसाकर तेल चोरी का धंधा चलाता है। यह बात बीपीटी के कुछ अधिकारी खासकर शेड सुपरीटेंडेंट, शिवड़ी पुलिस स्टेशन, सहायक आयुक्त, उपायुक्त तक को मालूम रहती है। जिस गोदाम से ट्रक चोरी हुए थे उसे वडाला टीटी पुलिस ने भी सील किया था। सील गोदाम से ट्रक, प्लेट्स आदि की चोरी की एफआईआर पर बीपीटी अधिकारी भी फंस सकते थे।
दूसरी तरफ पता नही क्यो देवेन भारती और किरण चव्हाण संतोष सिंह पर कार्रवाई नही करना चाहते थे।
त्रिवेदी ने देवेन भारती, किरण चव्हाण और एन अम्बिका के खिलाफ बम्बई उच्चन्यायालय में जो याचिका दायर की है उसमें इस घटना का भी ज़िक्र किया है।

About Satya Sodhak Rahi

Check Also

आखिरकार परमबीर सिंह बने मुम्बई पुलिस कमिश्नर

एम.आई.आलम लंबे उहापोह के बाद आखिरकार आज राज्य सरकार ने नए पुलिस कमिश्नर के नाम …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *