Breaking News
Home / मुम्बई / 8 साल की बच्ची से रेप की धमकी देने वाले सुरेश शेट्टी के हिमायती उतरे मैदान में

8 साल की बच्ची से रेप की धमकी देने वाले सुरेश शेट्टी के हिमायती उतरे मैदान में

22222a

20 फरवरी को घाटकोपर पुलिस ठाणे अंतर्गत स्थित एक बार के मालिक पर बार मे काम करने वाली एक बारबाला ने रेप का आरोप लगाया था। आरोपी बार मालिक सुरेश शेट्टी सलाखों के पीछे है, भुक्तभोगी बार बाला ने न केवल सुरेश शेट्टी पर अपने साथ रेप करने का आरोप लगाया था बल्कि उसने अपने बयान में यह भी दावा किया था कि सुरेश शेट्टी ने उसकी 8 साल की बच्ची के साथ रेप करने की धमकी भी दी थी। बार में काम करने वाली लड़की के दावे में कितनी सच्चाई है यह तो आने वाले समय मे माननीय कोर्ट तय करेगा लेकिन शर्म की बात यह है कि मासूम बच्ची से रेप करने की धमकी देने वाले के समर्थन में कुछ हिमायती मैदान में उतर चुके हैं और वह सोशल मीडिया में न केवल भुक्तभोगी लड़की के खिलाफ अभियान चला रहे है बल्कि आरोपी सुरेश शेट्टी का महिमामंडन कर रहे है।
एक सोशल मीडिया पोस्ट में भुक्तभोगी महिला पर व्यक्तिगत इल्ज़ाम लगाते हुए आरोपी सुरेश शेट्टी को सहयोग करने की अपील की गई है। पूरे पोस्ट को लिखने वाले ने नीचे अपना नाम भी डाला है लेकिन सोशल मीडिया पर किसी का नाम डाल देना कोई बड़ी बात नही है इसलिए हम यहां पर नाम उजागर नही कर रहे हैं। हालांकि पोस्ट लिखने वाले ने अपने आपको एक ज़िम्मेदार पत्रकार लिखा है लेकिन किसी भी ज़िम्मेदार पत्रकार को यह तो मालूम है कि रेप पीड़िता का नाम और पहचान उजागर करना पूरी तरह से प्रतिबंध है। ऐसा करने वाले पर कानूनी कारवाई हो सकती है इसीलिए हमें इस बात की भी आशंका है कि पोस्ट के नीचे जो नाम डाला गया है वह नाम फर्जी है। किसी पत्रकार को 8 साल की बच्ची से रेप की धमकी देने वाले से सहानुभूति हो ही नही सकती।
सवाल यह है कि आखिर रेप आरोपी के हिमायती हैं कौन? तो इसका सीधा और सरल जवाब है यह हिमायती और कोई नही वह अवैध वसुलीबाज़ है जिनके घर के चूल्हे बारो की अवैध वसूली से चलता है। यहां यह ध्यान देने वाली बात है कि पिछले कुछ दिनों से मुम्बई महानगर में बारों की अवैध गतिविधियों पर मुम्बई पुलिस आयुक्त श्री संजय बर्वे की निगाहें टेढ़ी रही है। जिससे डांस बारों की कमाई बुरी तरह से प्रभावित हुई है बारों की हालत खराब होने से बारों के भरोसे अपना घर बार चलाने वाले अनेक तथाकथित समाजसेवी, अपने आप को पुलिस मित्र, पत्रकार कहने वाले प्रभावित रहे है। जब बारों की कमाई बंद है तो इनके हफ्ते भी बंद। किसी रेप आरोपी की हिमायत यही लोग कर सकते है। इनके लिए पैसा ही धर्म और ईमान है साथ ही बार चलाने वाले बार मालिक आका और भगवान। अब अपने आका को सलाखों के पीछे देख उसकी हिमायत में मैदान में न आये तो आका की नाराजगी, जो बेचारे बर्दाश्त नही कर सकते।
महिला के आरोप सही है या गलत यह तो कोर्ट में तय होगा पर किसी मासूम बच्ची से बलात्कार की धमकी देना ही अपने आप मे बड़ी बात है। ऐसी धमकी देने वाले के साथ कोई सहानुभूति नही होना चाहिए। अपने व्यक्तिगत फायदे के लिए जो भी आज सुरेश शेट्टी के हिमायती बन रहे हैं उन्हें अपने घर की किसी मासूम बच्ची की शक्ल देखना चाहिए। फिर अपने आप से यह सवाल पूछना चाहिए कि भले ही भुक्तभोगी महिला गलत हो उसके सारे आरोप गलत हो लेकिन उसकी मासूम बच्ची ने किसी का क्या बिगाड़ा है??

About Satya Sodhak Rahi

Check Also

Prashant Gaikwad, Prashant Gaykwad

प्रशांत गायकवाड़ के लिए नियम और कानून है “पैरों की जूती”

जोगेश्वरी पश्चिम में फातिमा हॉस्पिटल के पास वैशाली नगर रोड पर स्थित वेस्टर्न आयल शॉप …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *